Encourage yourself !! Best poem for self motivation !!

!! ये लहरें है तूफान की !!




यह कविता उन सभी लोगो को प्रेरणा देती है जो संघर्ष करते करते थकने लगे है या जो किसी कारणवश परेशान और दुखी है। जो समय के खेल को बिना समझें लड़ते जा रहा है और हारकर टूटते जा रहे है। यह कविता काम के प्रति उनके निरंतता को बनाये रखने मे उनकी बहोत मदद करेगी।

Stress ko kam kare

सूझबूझ की तेरे सुन

है वक्त ये पहचान की।

सोच समझ कर बढ़ आगे

ये लहरें है तूफान की।


कर तनिक तू आंकलन

जरा इसकी रफ्तार की।

अति-उत्साह कही ये कारण

बन जाये न हार की।


धैर्य न अपना फंसने दे तू

शीघ्रता के जाल में न।

नहीं तो खुद ही घिर जायेगा

खुद के ही सवाल में। 


भाँप तेरे संयम की शायद

दौर है ये इन्तहान की।

सोच समझ कर आगे बढ़

ये लहरें है तूफान की।

वक्त में है उथल पुथल तो

गति को अपने धीरे  कर।

थमने दे तुफानो को

फिर अपनी रफ्तर पकड़।


जज्बाजोरजूनून में तू 

कुशलता को छोड़ नहीं।

है नियम कुछ कुदरत के भी

अहंकार में तोड़ नहीं।


वक्त के आगे ताकत कोई

चलती नहीं इंसान की।

सोच समझ कर आगे बढ़

ये लहरें है तूफान की।



👉 other similar products


कहता नहीं तू पीछे हट

कहता नहीं बेवजह ही लड़।

हिरण नहीं शेरो की भांति

चतुराई से आगे बढ़।

कहा छुपना है कहा दिखना है

कहा रुकना कहा चलना है।

कहा सम्भल के कदम बढ़ाना

कहा रफ्तार बदलना है।


पीछे हटनाधीरे चलना

है बात नहीं अपमान की।

सोच समझ कर आगे बढ़

ये लहरें है तूफान की।

**********

***********
(इस कविता का copyright कराया जा चुका है। इस कविता का मकसद आपको प्रेरित करना है। किसी भी व्यायसायिक कार्य में बिना अनुमति के इसका प्रयोग वर्जित है।)


निचे इस कविता का उदेश्य एवं संक्षिप्त विवरण दिया जा रहा हैं जिसे आपको अवश्य ही पढ़नी चहिये क्योंकि यह प्रेरणा से भरा हुआ एक अति-प्रेरणादायक लेख हैं।

Home         List of all Poems

*************

---------------------------------------------------------------------------

कविता का उद्देश्य एवं संक्षिप्त विवरण

सूझबूझ की तेरे सुन 

है वक्त ये पहचान की।

सोच समझ कर बढ़ आगे

ये लहरें है तूफान की।


जीवन में कई ऐसे दौर आते है जहाँ इंसान की संयम और सूझबूझ की परीक्षा होती है। जो लोग समझदार होते है वो ऐसे वक्त का आदर और सम्मान करते हुए संयम से काम लेते हुए इस दौर से आगे निकल जाते है। लेकिन जिनके अंदर थोड़ा अहंकार होता है कि मैं इस वक्त की धारा को बदल दूंगा वो इसके चक्रव्यू में फंसकर निकल नहीं पाते।


आत्मविश्वास और अहंकार में थोड़ा सा फर्क होता है आत्मविश्वास में इंसान भ्रमित नहीं होता और वही करता है जिसके करने का विश्वास होता है। लेकिन अहंकार में लोग भ्रमित होकर ऐसे ऐसे काम करने लगते है जो खुद के ही रास्ते में रोड़ा बन जाता है। इसलिए ये जरुरी है कि समय की धारा को समझते हुए आगे बढ़े न कि विपरीत दिशा में चलकर खुद को ही इससे दूर कर लें।

👇 Books which can change your life 👇 

      

Click on book for Price👆

👉Click here for other life changing books 

वक्त में है उथल पुथल तो

गति को अपने धीरे  कर।

थमने दे तुफानो को

फिर अपनी रफ्तर पकड़।


यदि वास्तव में आपको लगता है कि वक्त में बहोत उथल पुथल है यानि समय ठीक नहीं है और हर तरफ असफलता, असंतोष का माहौल है तो आप थोड़ा रुकिए। अपने चलने की गति को कम कीजिये और इंतजार कीजिये माहौल बदलने का ये माहौल बहोत जल्दी बदल जाता है। जैसे ही माहौल बदल जाये अपनी रफ्तार बढ़ा दीजिये। सोचिये आप कार से जा रहे हो और सड़क पे जाम लगा हो तो आप क्या करते है? जाम के साथ धीरे धीरे चलते है लेकिन जैसे ही जाम से निकल जाते है अपनी रफ्तार पकड़ लेते है। ठीक यहीं तो करना है बुरे वक्त में भी।


उम्मीद करता हुँ कि इस कविता और ऊपर लिखें संक्षिप्त विवरण (लेख) को पढ़ने से आपको काफी प्रेरणा मिली होगी। ऐसी और भी प्रेरणादायक कविता पढ़ने के लिए आप मेरी वेबसाइट www.powerfulpoetries.com पे जा सकते हैं।

इस कविता से सम्बंधित आप अपना बहुमूल्य सुझाव निचे Coment box में लिख कर Publish पर क्लिक करके हमें भेज सकते हैं। आपका यह सुझाव वास्तव में हमारे लिए बहुत ही बहुमूल्य होगा और हमें मार्गदर्शन भी देगा।

👇


👉List of Hindi Motivational Poems

> जीवन बदल देने वाली कविता। तू ही जिम्मेदार हैं। 








                                                  Home


Thank you for reading this

Hindi Motivational Poem

"This is not only a Hindi Motivational Poem but also a Life Changing Poem."

Comments

Popular posts from this blog

हौसला एवं उत्साह बढ़ाने वाली कविता। जज्बे से वक्त को बदलने की हमें आदत है।

हौसला बढ़ाने वाली प्रेरणादायक कविता। हार कभी न होती है।

हिम्मत बढ़ाने वाली हिंदी प्रेरक कविता। कश्ती अगर हो छोटी तो।

आत्मविश्वास बढ़ाने वाली हिन्दी प्रेरक कविता। है यकीन खुद पे जिन्हें ।

उत्साह बढ़ाने वाली प्रेरणादायक कविता ।दिल में और जीने की अरमान अभी तो बाकी है।

जीवन बदलने वाली हिंदी प्रेरक कविता। मेहनत व्यर्थ न जाती है।