Meaningful Poem on Pain


!! ये दर्द ही वो अध्याय हैं !!


Hindi poem on pain

हँसा कर कभी रुलाता हैं
रुलाकर कभी हंसाता है। 
ये दर्द ही वो अध्याय है
जो जीना हमें सिखाता है।

 
गैरों से ये मिले अगर तो   
लड़ना हमें सिखाता है। 
अपनों से जो मिल जाये तो 
सच्चाई दिखलाता है। 


अलगअलग परिस्थितियों में  
अलग रुप दिखलाता हैं 
ये दर्द ही वो अध्याय है
जो जीना हमें सिखाता है।


चाह में जो मिले अगर तो 
सच्ची शिक्षा देता है। 
राह चलते मिल जाये तो 
कड़ी परीक्षा लेता है ।

 
इन्तहान कि चोट से
हमें और मजबूत बनाता है। 
ये दर्द ही वो अध्याय है
जो जीना हमें सिखाता है।

👇 Click on products & Grab the best deal 👇

         

Click on product to check price👆 


चीरहरण करें शरेआम ये
लाज कोई न बचती हैं। 
तोड़ता हैं इस कदर कि 
आश न कोई बचती हैं।


उम्मीद अगर न बचे कोई
तो साहस भी भर जाता हैं।
ये दर्द ही वो अध्याय है
जो जीना हमें सिखाता है।


घोर निंदा का पात्र है ये 
भले ही इसका मोल नहीं। 
किन्तु दर्द बिना जीवन में 
खुशियाँ भी अनमोल नहीं।


आंसू देकर आँखों में 
खुशियों का मोल बताता हैं। 
ये दर्द ही वो अध्याय है
जो जीना हमें सिखाता है। 

**********
***********
(इस कविता का copyright कराया जा चुका है। इस कविता का मकसद आपको प्रेरित करना है। किसी भी व्यायसायिक कार्य में बिना अनुमति के इसका प्रयोग वर्जित है।)

निचे इस कविता का उदेश्य एवं संक्षिप्त विवरण दिया जा रहा हैं जिसे आपको अवश्य ही पढ़नी चहिये क्योंकि यह प्रेरणा से भरा हुआ एक अति-प्रेरणादायक लेख हैं।

Home         List of all Poems

*************
---------------------------------------------------------------------------

👇 Click on products & Grab the best deal 👇

     

Click on product to check price👆 


कविता का उद्देश्य एवं संक्षिप्त विवरण


हंसा कर कभी रुलाता है
रुलाकर कभी हंसाता है। 
ये दर्द ही वो अध्याय है
जो जीना हमें सिखाता है।

!!जिसके जीवन में कभी भी कोई दर्द नहीं मिला हैं उसे कभी सुख कि अनुभूति नहीं हो सकती!!

जी हाँ ये पूरी तरह सत्य हैं कि जो व्यक्ति कभी दर्द से नहीं गुजरा हैं वो सुख से गुजरने पर भी उसका अनुभव नहीं कर पाता। ये दर्द ही हैं जो इंसान को जीवन में हंसी खुशी के महत्व को समझाता हैं। अक्सर दुःख तकलीफ आने पर लोग घबराने लगते हैं तथा हताश, निराश होने लगते है। ये सही हैं कि दुःख तकलीफ किसी को पसंद नहीं हैं लेकिन इसके बिना तो जीवन चक्र ही अधूरा हैं। सुख और दुःख एक ही सिक्के के दो पहलु हैं और दोनों का होना अनिवार्य हैं। सुख भोगने के लिए होता हैं और दुःख सिखने के लिए।

दुःख क्या हैं अर्थात दर्द और तकलीफ क्या होता हैं? What is Pain? 


दर्द एक भूख के जैसे हैं जिसे लगने के बाद ही भोजन स्वादिष्ट लगता हैं। सोचिये जिसे भूख ही न लगी हो उसे खाने में स्वाद और आनंद कैसे आयेगा। स्वाद यदि आ भी गया तो आनंद कैसे आयेगा जो तेज भूख लगने पर भोजन करने के बाद आता हैं। ठीक दर्द, तकलीफ और दुःख भी ऐसा ही हैं जब कोई व्यक्ति किसी दुःख से गुजरता हैं और उसके बाद उसे थोड़ी सी भी सुख की प्राप्ति होती हैं तो उसे आनंद की अनुभूति होने लगती हैं। पानी में कोई स्वाद नहीं होता पर एक प्यासे पूछिए जब घंटो प्यास के बाद उसे पानी मिलता हैं तो उसे पानी पीकर क्या आनंद आता हैं वो प्यासा ही समझ सकता हैं।

जीवन में दुःख का महत्व? Importance of Pain in Life.


जैसे पानी में आनंद प्राप्त करने के लिए प्यास की जरुरत होती हैं ठीक इसी प्रकार जीवन में सुख के आनंद और महत्व को समझने के लिए दुःख का होना अनिवार्य हैं। सोचिये जो व्यक्ति कभी धूप में जला ही नहीं हैं उसे छायें में बैठने का क्या सुख प्राप्त होगा। वो जीवन भर छायें में बैठे तब भी उसे छायें में बैठने का सुख प्राप्त नहीं होगा। यहां तक कि उसे कभी महसूस भी नहीं होगा कि छायें में भी बैठने पर सुख की अनुभूति होती हैं।


                 

दर्द सबसे बड़ा अध्यापक हैं। Pain is a great teacher.


ये बिल्कुल सही हैं कि समय और दर्द से बड़ा कोई भी अध्यापक नहीं हैं। जो शिक्षा हमें दर्द और बुरा वक्त दे जाता हैं वो किसी भी विद्यालय और महाविद्यालय में नहीं मिलता हैं। ये दर्द ही हैं जो वास्तविकता से हमारा परिचय कराता हैं, अपनों और गैरों की असली पहचान कराता हैं और मुसीबतों से लड़ना सिखाता हैं। ये जब तक व्यक्ति के जीवन में नहीं आता तब तक व्यक्ति अपनी क्षमताओं को नहीं पहचान पाता। ये जब भी किसी व्यक्ति के जीवन में आता हैं उसकी कड़ी परीक्षा लेता हैं और यदि व्यक्ति पास कर जाए तो जीवन बदल जाता हैं और आनंद से भर जाता हैं।


चीरहरण करे शरेआम ये 
लाज कोई न बचती हैं। 
तोड़ देता इस कदर कि 
आश कोई न बचती हैं।

उम्मीद न कोई बचे अगर 
तो साहस भी भर जाता हैं।
ये दर्द ही वो अध्याय है
जो जीना हमें सिखाता है। 

ये तो सही हैं कि जब भी बुरा वक्त आता हैं तो ये इंसान का चीरहरण कर देता हैं। चारो तरफ से दुःख और कष्टों का प्रहार एक साथ होता हैं और तब व्यक्ति को कोई सुध नहीं रहता कि उसके साथ क्या हो रहा हैं। इंसान को इस कदर तोड़ देता हैं कि सारी उम्मीदें खत्म सी नजर आने लगती हैं। जब इंसान पूरी तरह टूट जाता हैं तब अचानक से यही दर्द हौसला बनकर व्यक्ति को डूबने से बचा लेता हैं। किन्तु ये जो हौसला देकर इंसान को बचाता हैं, बाद में वही हौसला इंसान की ताकत बन जाता हैं और इंसान पहले के अपेक्षा काफी मजबूत हो जाता हैं।


उम्मीद करता हुँ कि इस कविता और ऊपर लिखें संक्षिप्त विवरण (लेख) को पढ़ने से जीवन में आये दुःख और पीड़ा के प्रति आपके भी मन में एक संतोषजनक भावना उत्पन्न हुई होगी। ऐसी और भी कविताएं पढ़ने के लिए आप मेरी वेबसाइट www.powerfulpoetries.com पे जा सकते हैं या Home बटन पे क्लिक करके भी आप अन्य कविताएं पढ़ सकते हैं।


👇 Great Deal- Click on Product to check Price👇

       

इस कविता से सम्बंधित आप अपना बहुमूल्य सुझाव निचे Coment box में लिख Publish पर क्लिक करके हमें भेज सकते हैं। आपका यह सुझाव वास्तव में हमारे लिए बहुत ही बहुमूल्य होगा और हमें मार्गदर्शन भी देगा।

Here are some Inspiration Poems in hindi. I believe that these hindi poems will also give so much inspiration to achieve your goal soon.

List of Hindi Motivational Poems









Comments

Popular posts from this blog

हौसला एवं उत्साह बढ़ाने वाली कविता। जज्बे से वक्त को बदलने की हमें आदत है।

हौसला बढ़ाने वाली प्रेरणादायक कविता। हार कभी न होती है।

आत्मविश्वास बढ़ाने वाली हिन्दी प्रेरक कविता। है यकीन खुद पे जिन्हें ।

हिम्मत बढ़ाने वाली हिंदी प्रेरक कविता। कश्ती अगर हो छोटी तो।

उत्साह बढ़ाने वाली प्रेरणादायक कविता ।दिल में और जीने की अरमान अभी तो बाकी है।

जीवन बदलने वाली हिंदी प्रेरक कविता। मेहनत व्यर्थ न जाती है।